Zoom APP

Zoom एप के पांच लाख अकाउंट्स हुए हैक, डार्क वेब पर बिक रही है निजी जानकारी.₹=0.15 /account

कोरोना वायरस के फैलने के बाद जूम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप की डाउनलोडिंग में जबरदस्त इजाफा देखने को मिला, लेकिन कुछ दिन बाद ही जूम एप प्राइवेसी को लेकर विवादों में आ गया। गूगल और टेस्ला जैसी कई बड़ी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को जूम एप इस्तेमाल करने से मना कर दिया। अब इसी बीच खबर है कि जूम एप के पांच लाख अकाउंट हैक हो गए हैं और डाटा को डार्क वेब पर बेचा जा रहा है। ब्लीपिंग कंप्यूटर ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि जूम के पांच लाख अकाउंट को हैक कर लिया गया है और डार्क वेब पर मामूली कीमत में लोगों का निजी डाटा बेचा जा रहा है। जूम एप यूजर्स का डाटा हैकर्स फोरम पर बिक रहा है। इसके बारे में सबसे पहले एक अप्रैल को साइबर सिक्योरिटी फर्म Cyble ने जानकारी दी थी। जूम एप यूजर्स का जो डाटा हैकर्स तक पहुंचा है उनमें ई-मेल आईडी, पासवर्ड, मीटिंग का यूआरएल और होस्ट की जैसी जानकारियां शामिल हैं। इनमे से 290 अकाउंट कॉलेज और यूनिवर्सिटी से जुड़े हैं।